हबीबुल्लाह सभागार


हबीबुल्लाह सभागार में हर्षोन्मत्त सावधान केडेट
     हबीबुल्लाह सभागार का नाम राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खड़कवासला के प्रथम समादेशक के नाम पर रखा गया था, जिसका निर्माण 1959 में 1,25,000 रु॰ की लागत से किया गया था।

     इस दुमंजिला सभागार में 1700 से अधिक व्यक्तियों के बैठने की व्यवस्था है। सभागार में व्याख्यानों, प्रस्तुतीकरण, संगीत-शाम, वाद-विवाद प्रतियोगिता, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं, अंतर बटालियन रंगारंग सांस्कृतिक कार्यकमों आदि विभिन्न समारोहों का आयोजन किया जाता है। सभागार में हिन्दी और अंग्रेजी फिल्मे सप्ताह में एक बार प्रदर्शित की जाती हैं।

     बाद में सभागार का नवीनीकरण किया गया। जिसमें, सीटों में सुधार, सुरक्षा नियमों, आंतरिक साज़-सजावट, सुविधाएँ, ध्वनि प्रणाली, कला मंच उपकरण आदि शामिल हैं।


हबीबुल्लाह सभागार के सामने का दृश्य
 
 
 
 
  Army Navy Air Force
 
   
 

विक्रेता पंजीकरण प्रपत्र

 

  पहला पृष्ठ | विजन एंड मिशन | काल्पनिक यात्रा | टेंडर्स | सूचना अधिकार | आंतरिक शिकायत समिति | साइट मैप

 

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी द्वारा डिजाइन एवं विकसित किया गया। एन आई सी (राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र) द्वारा साइट होस्ट की गई।
कॉपीराइट 2015 राष्ट्रीय रक्षा अकादमी सभी अधिकार सुरक्षित।